Print
Details: Category: Uncategorised | Published: 22 September 2015 | Hits: 6466

हल्द्वानी शहर की स्थापना वर्ष 1834 में ट्रेल द्वारा की गयी थी इस शहर की समुद्र सतह से ऊचाई 1391 फिट है। हल्द्वानी को नगर पालिका परिषद हल्द्वानी कम काठगोदाम को सन् 1904 में नोटिफाईड ऐरिया घोषित किया गया। वर्ष 1942 में नोटिफाईड एरिया से तृतीय श्रेणी की पालिका घोषित की गयी, सन 1956 में द्वितीय श्रेणी व 1966 में प्रथम श्रेणी की नगर पालिका घोषित की गयी ।

वर्ष 2001 की जनगणना के अनुसार इस पालिका की जनसंख्या 1,27,603 थी। तथा क्षेत्रफल 10.62 वर्ग किलोमीटर है। वर्ष 2011 की गणना के अनुसार नगर निगम हल्द्वानी की जनसंख्या 171353 है, तथा 21 मई 2011 को हल्द्वानी को नगर पालिका परिषद से नगर निगम घोषित किया गया।

हल्द्वानी कुमायूॅ का प्रवेश द्वार होने के साथ साथ अपनी ऐतिहासिक सांस्कृतिक एवं प्रगतिशीलता के चलते उत्तराखण्ड व विश्व के मानचित्र में अपनी अलग पहचान को बनाये हुए है। हल्द्वानी शहर जनसंख्या वृद्वि के साथ- साथ नगरीकरण एवं शहरी करण का विकास भी तेजी से हुआ है यातायात सुविधाओं , उच्च तकनीकी शिक्षा की बढ़ती माॅग एवं रोजगार की तलाश में सीमान्त राज्यों से आये लोगों के कारण व पहाडी क्षेत्रों से हो रहे पलायन के कारण हल्द्वानी शहर की आबादी दिन प्रतिदिन बढ रही है। शहर में विकास की कई सम्भावनायें बढ़ी हैं।

वर्तमान स्वरूप

1- डा0 जोगेन्द्र पाल सिहं रोैतेला मेयर नगर निगम हल्द्वानी

2- श्री चन्द्र सिंह मर्तोलिया नगर आयुक्त नगर निगम हल्द्वानी।

3- डाॅ0 मनोज काण्डपाल नगर स्वास्थ्य अधिकारी नगर निगम हल्द्वानी।

4- श्री नवल नौटियाल सहायक अभियन्ता नगर निगम हल्द्वानी।

5- श्री विजेंद्र सिंह चौहान सहायक नगर आयुक्त नगर निगम हल्द्वानी।

6- श्री गौरव भसीन, सहायक नगर आयुक्त नगर निगम हल्द्वानी।